प्याज के कीमतों में फिर लगी आग, 100 रु प्रति किलो तक पहुंच सकती है दाम, जानें कबतक

 


प्याज के कीमतों में फिर लगी आग, 100 रु प्रति किलो तक पहुंच सकती है दाम, जानें कबतक

अगस्त के मध्य में देश की सबसे बड़ी प्याज मंडी नासिक के लासलगांव में जहां 900 रुपये प्रति क्विंटल प्याज की थोक कीमत थी, वो अब तीन गुणा बढ़कर 2700 रुपये प्रति क्विंटल हो गयी है।


प्याज की क़ीमतों में फिर आग लग गयी है। देश की खुदरा और थोक सब्जी मंडियों में प्याज की कीमत में गजब का उछाल आया है। देश की सबसे बड़ी प्याज की सब्जी मंडी जो नासिक के लासलगांव में स्थित है वहाँ अगस्त महीने के मध्य तक प्याज की कीमत 900 रु प्रति क्विंटल थी जो अब तीन गुना बढ़कर 2700 रु प्रति क्विंटल में बिक रही है। देश की सबसे बड़ी प्याज मंडी में प्याज की कीमतों में वृद्धि से देश के खुदरा मंडियों में भी प्याज 40 से 60 रु किलो बिक रही है। गौरतलब है कि आनेवाले समय मे प्याज 100 रु किलो तक बिक सकती है।

बारिश के कारण बढ़ रही कीमत

मीडिया की रिपोर्ट्स के मुताबिक, भारी बारिश के चलते रबी सीजन की लगभग 40 फीसदी प्याज खराब हो गयी है, जिसके कारण प्याज की कीमतें इतने तेजी से बढ़ रही है। इस साल कई राज्यों में उम्मीद से ज्यादा बारिश होने के कारण प्याज की फसल और स्टॉक को काफी नुकसान पहुंचा है। खेतों में पानी भर जाने के कारण आंध्र प्रदेश और कर्नाटक के शुरुआती खरीफ प्याज की फसल बर्बाद हो गयी, बता दे कि यही फसल देश की थोक मंडियों में आमतौर पर जुलाई-सितंबर के दौरान पहुंचती थी जो इसबार थोक मंडियों में कम पहुंचा।


100 रु प्रति किलो हो सकती है दाम

भारी बारिश और स्टॉक में कमी के कारण देश के प्रमुख मंडियों में प्याज की कीमत में लगातार वृद्धि हो रही है। आपको बता दें कि कोलकाता और मुंबई की खुदरा सब्जी बाजार में प्याज 50 रुपये किलो बिक रही है, वहीं दिल्ली की खुदरा सब्जी बाजारों में इसकी कीमत 60 रुपये किलो तक पहुंच गई है।


एशिया की सबसे बड़ी सब्जी मंडी दिल्ली के आजादपुर स्थित मंडी में प्याज की सप्लाई करीब 50 फीसदी कम हो गई है। यहां के व्यापारियों का कहना है कि प्याज की कीमतों में अभी और वृद्धि होगी और अगले महीने यानी अक्टूबर तक इसकी कीमत बढ़कर 100 रुपये प्रति किलो पर पहुंच सकती है।



Post a Comment

0 Comments